अंबानी, अडानी, और टाटा सहित सबने दिया PM CARES fund में दान, कब देगा वाड्रा और गांधी खानदान

नई दिल्ली। कोरोना महामारी ने समूचे विश्व पंगू बना दिया है, लाख के करीब लोगों की इस महामारी से मौत हो चुकी है और करीब 20 लाख लोग इस बिमारी से संक्रमित हैं। दुनिया घरों में कैद है, अर्थव्यवस्थाएं ठप्प हो चुकी हैं। लोगो का रोजगार छिन गया है। अरबों डॉलर का नुकसान के साथ-साथ सरकारों को आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

सरकारें दवाओं, जांच किट, और अन्य जरूरी सामानों सहित पैसे की कमीं से जूझ रहीं हैं। ऐसे वक्त में सरकारों को मदद करने को दुनिया भर के उद्योगपति, दानवीर, आम आदमी, सामाजिक संस्थाएं, धनाढ्य संस्थाएं और समाजसेवी संस्थाए खुद आगे आ रही हैं। जिसे जिस स्तर पर बन पा रहा है वो उसी आधार पर, क्षमता देखकर मदद कर रही हैं। कोई पैसा दे रहा है तो कोई हॉस्पिटल और जरूरी सामान उपलब्ध करा रहा है तो कोई खुद आगे आकर इसे बांटने का काम कर रहा है।

हर राजनीतिक दल और उससे जुड़ी संस्थाएं आगे आकर लोगों की मदद कर रही हैं।

मसलन, भाजपा ने अपने 386 सांसदों को अपने सांसद निधि से एक -एक करोड़ रुपए पीएम केयर फण्ड में देने को कहा है। वहीं सेवा भारती लोगों को खाना- पीना मुहैया कराने के साथ -साथ लोगों, गरीबों को राशन भी उपलब्ध करवा रही है। और यह काम प्रतिदिन लॉकडाउन के बाद से ही जारी है।

वहीं भारत सरकार ने सांसद के वेतन से एक साल तक 30% राशि काटने का फैसला किया है। जबकि सांसद निधि के पैसे को 2 साल तक निरस्त कर दिया है। रेल, खेल, हर संस्थाएं सरकार को अपने स्तर से आर्थिक या अन्य मदद कर रही हैं।

परंतु आश्चर्य की बात तो यह है कि मुख्य विपक्षी कांग्रेस जिसने दशकों तक भारत पर राज किया, जो 2014 तक सत्ता में थी, जिसने अपने शासनकाल में सैकड़ों हजारों NGO या तो बनवाए या तो उसे वित्त पोषित किया।

खुद गांधी परिवार के नेतृत में कई NGO आज भी संचालित है। ये संस्थाएं कांग्रेस शासनकाल में भारी वित्त पोषित होती आई हैं। ये लोग, ये सभी संस्थाए कहाँ हैं ? इनमें से किसी भी संस्था को आर्थिक या सामाजिक काम करते वो भी तब जब देश कोरोना महामारी की जंग लड़ रहा है और देश को इनकी जरूरत है ये ग़ायब हैं। इनकी कोई ख़बर नहीं दिख रही है।

सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी, वाड्रा परिवार और गांधी परिवार सहित कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व में कई ट्रस्ट, NGO, फाउंडेशन प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तौर पर चल रही है।

इनमें राजीव गांधी फाउंडेशन, राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट, नेशनल हेराल्ड, कांग्रेस सेवा दल, और रोबर्ट वाड्रा के नेतृत्व वाली करीब 12 कंपनियां महत्वपूर्ण है। इन कम्पनियों में रोबेर्ट वाड्रा या तो या तो डायरेक्टर हैं या फिर इनमें इनका शेयर है, या फिर स्वयं मालिक हैं रोबर्ट वाड्रा।

‘फ्री प्रेस इंडिया’ द्वारा नवंबर 6, 2014 को जारी वाड्रा की कंपनियों की एक लिस्ट के मुताबिक स्काई लाइट हॉस्पिटैलिटी लिमिटेड, ब्लू ब्रीज़ ट्रेडिंग प्राइवेट लिमिटेड, स्काई लाइट रियल्टी प्राइवेट लिमिटेड, रियल अर्थ एस्टेट्स प्राइवेट लिमिटेड, नार्थ इंडिया पार्क्स प्राइवेट लिमिटेड, लाइफलाइन एग्रोटेक प्राइवेट लिमिटेड, और ग्रीनवेव एग्रो प्राइवेट लिमिटेड कुछ महत्वपूर्ण हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मार्च 28, 2020 को अपने ट्विटर हैंडल से देश वासियों से PM केयर्स फण्ड में दान देने की अपील की। उन्होंने कहा कि वो छोटे से छोटा दान की राशि स्वीकार करते हैं। देश में क्या आम और क्या खास सबने अपने अपने स्तर से दानों को झड़ी लगा दी।

लेकिन देश की सत्ता पर दशकों तक राज करने वाला नेहरू-गांधी खानदान की तरफ से अबतक कोई दान की कोई ख़बर नहीं मिली है। ना गांधी खानदान से जुड़े ट्रस्ट और ना ही वाड्रा की कंपनियों से। हां, देश वासियों ने जरूर दान दी है। ये या तो अपने को आम भारतीयों से ऊपर समझते हैं या इन्हें देने की आदत नहीं।

सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी, वाड्रा परिवार और गांधी परिवार सहित कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व में कई ट्रस्ट, NGO, फाउंडेशन प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तौर पर चल रही है। इनमें राजीव गांधी फाउंडेशन, राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट, नेशनल हेराल्ड, कांग्रेस सेवा दल, और रोबर्ट वाड्रा के नेतृत्व वाली करीब 12 कंपनियां महत्वपूर्ण है।

इन कम्पनियों में रोबेर्ट वाड्रा या तो या तो डायरेक्टर हैं या फिर इनमें इनका शेयर है, या फिर स्वयं मालिक हैं रोबर्ट वाड्रा। ‘फ्री प्रेस इंडिया’ द्वारा नवंबर 6, 2014 को जारी वाड्रा की कंपनियों की एक लिस्ट के मुताबिक स्काई लाइट हॉस्पिटैलिटी लिमिटेड, ब्लू ब्रीज़ ट्रेडिंग प्राइवेट लिमिटेड, स्काई लाइट रियल्टी प्राइवेट लिमिटेड, रियल अर्थ एस्टेट्स प्राइवेट लिमिटेड, नार्थ इंडिया पार्क्स प्राइवेट लिमिटेड, लाइफलाइन एग्रोटेक प्राइवेट लिमिटेड, और ग्रीनवेव एग्रो प्राइवेट लिमिटेड कुछ महत्वपूर्ण हैं।

vadra

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मार्च 28, 2020 को अपने ट्विटर हैंडल से देश वासियों से PM केयर्स फण्ड में दान देने की अपील की। उन्होंने कहा कि वो छोटे से छोटा दान की राशि स्वीकार करते हैं। देश में क्या आम और क्या खास सबने अपने अपने स्तर से दानों को झड़ी लगा दी।

Vadra 1

लेकिन देश की सत्ता पर दशकों तक राज करने वाले नेहरू-गांधी खानदान की तरफ से अब तक दान की कोई ख़बर नहीं मिली है। ना गांधी खानदान से जुड़े ट्रस्ट और ना ही वाड्रा की कंपनियों से।

vadra 2

हां, देश वासियों ने जरूर दान दी है। ये या तो अपने को आम भारतीयों से ऊपर समझते हैं या इन्हें देने की आदत नहीं।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s