J&K में 11 मई को सऊदी अरब में हुई बद्र की लड़ाई की तर्ज पर एक साथ कई आत्मघाती हमले की इंटेल

नई दिल्ली। भारत समेत दुनिया भर के देश कोरोना महामारी से निपटने में जी जान से लगे हुए हैं। अभी देशों के लिए एकमात्र प्राथमिकता है कोरोना महामारी से कैसे अपने लोगों के जान को बचाया जाए। लेकिन इस महामारी के समय में भी एक देश है जो कोरोना महामारी के समय में भी अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आ रहा है। यह देश कोई और नहीं बल्कि हमारा परंपरागत पड़ोसी पाकिस्तान है। पाकिस्तान कोरोना महामारी को भी एक हथियार के तौर पर इस्तेमाल कर रहा है।

पाक ने पहले कोरोना से संक्रमित मरीजों को घुसपैठ के जरिए कश्मीर में भेजने की भरपूर कोशिश की, पर जब उसकी इस कोशिश को सुरक्षा बलों की मुस्तैदी ने नाकाम कर दिया गया तो उसने अपने आतंकियों को सक्रिय कर दिया और कश्मीरी अवाम को किडनैप कर सरकार को घुटनों पर लाने की योजना बनायी। लेकिन उसकी इस योजना को भी भारतीय सेना और सुरक्षा बलों के 5 जवानों ने अपना सर्वोच्च बलिदान के जरिए नाकाम बना दिया। जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा हुई मुठभेड़ आतंकी ढेर कर दिया गया जबकि सेना के दो बड़े अफसर समेत 5 जवान भी शहीद हो गए।

वहीं हिन्दुस्तान टाईम्स की एक ख़बर के अनुसार पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद जम्मू-कश्मीर में 11 मई को कई आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की योजना बना रहा है। इसको लेकर सुरक्षाबलों को अलर्ट जारी किया गया है। एक अधिकारी ने शनिवार को कहा, ‘जानकारी है कि ये आत्मघाती हमले हो सकते हैं और जम्मू-कश्मीर में सेना और अर्धसैनिक बलों के ठिकानों को निशाना बना सकते हैं।’ कहा जा रहा है कि इस आतंकी हमले की वजह भारतीय सेना द्वारा अप्रैल महीने में 28 आतंकवादियों को मौत के घाट उतार देना है।

सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि जैश-ए-मोहम्मद का फाउंडर मौलाना मसूद अजहर लंबे समय से बीमार है और इस वजह से कई महीनों से गतिविधियों से दूर है। उसकी जगह उसका भाई मुफ्ती अब्दुल असगर आतंकवाद से जुड़ी गतिविधियों को देख रहा है।

अख़बार के अनुसार भारतीय खुफिया एजेंसियों के पास उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, मुफ्ती अब्दुल रऊफ असगर ने शनिवार को पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद के बाहरी इलाके रावलपिंडी में इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस के अधिकारियों के साथ एक बैठक की।

भारतीय खुफिया एजेंसियों से अब तक मिली जानकारी के मुताबिक शनिवार को मुफ्ती अब्दुल रउफ असगर की एक मीटिंग पाकिस्तान के आईएसआई के अधिकारियों के साथ पाकिस्तानी राजधानी इस्लामाबाद के बाहरी इलाके, रावलपिंडी में प्रस्तावित थी।

वहीं न्यूज़ 18 इंडिया में छपी ख़बर के मुताबिक भारतीय सुरक्षा अधिकारियों इस हमले के बारे में आगे बताया है कि हमारा अनुमान है कि मुफ्ती अब्दुल रउफ असगर, आईएसआई के अपने हैंडलरों से 11 मई को होने वाले इन आतंकी हमले को सिलसिले में ही मिल रहा है।

भारतीय सेना के आतंक विरोधी अभियान से तिलमिलाया पाकिस्तान 

शक है कि ये योजनाबद्ध आतंकी हमले भारतीय सेना के आतंक विरोधी कार्यक्रम में शानदार प्रदर्शन का जवाब देने के लिए किए जाने वाले हैं। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार जम्मू-कश्मीर में भारतीय सेना ने सिर्फ अप्रैल महीने में ही 28 आतंकियों को मार गिराया है। इसी सख़्त नाकेबंदी और आतंक विरोधी अभियान  सुरक्षा कार्रवाई पर हाल ही में इस्लामाबाद में पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय की ओर से तीखी प्रतिक्रिया आई थी, जिसने इसे 29 मासूमों की हत्या करार देते हुए इसका विरोध किया था।

हमले के लिए 11 मई के चुनाव को इस्लामिक फ़लसफ़े से जोड़ने की कोशिश है

कश्मीर के एक वरिष्ठ सुरक्षा अधिकारी ने कहा कि हमलों के लिए 11 मई का विकल्प रमजान के 17 वें दिन के साथ मेल खाने के लिए चुना गया है। इस दिन सऊदी अरब में बद्र की लड़ाई कुछ सौ सैनिकों द्वारा लड़ी गई और जीती गई थी। इतिहास में इसे इस्लाम के शुरुआती दिनों में बड़ी जीत और एक महत्वपूर्ण मोड़ के रूप में देखा जाता है। खुफिया अधिकारियों ने कहा कि पिछले एक महीने के दौरान पाकिस्तान की सेना द्वारा समर्थित घुसपैठ की कोशिशें की गईं, जिसके बाद माना जा रहा था कि जैश ऐसी कोई योजना बना सकता है।

खुफिया इनपुट के मुताबिक लगभग 25-30 जैश आतंकवादी पाकिस्तान की सेना की मदद से कश्मीर घाटी में घुसने में कामयाब हो गए थे। खुफिया रिपोर्टों से संकेत मिलता है कि जैश-ए-मोहम्मद के 70 से अधिक आतंकवादी लीपा घाटी के जरिए आने वाले कुछ हफ्तों में घुसपैठ की कोशिश कर सकते हैं। अधिकारी ने कहा कि यह असंभव है कि पाकिस्तान इन घुसपैठ का समर्थन नहीं कर रहा हो। पाकिस्तानी सेना द्वारा लागातार सीज़फायर का उलंघन किया जाना यह बताता है कि पाक इसके माध्यम से आतंकियों की घुसपैठ में लगा रहता है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: