J&K: पुलवामा में सुरक्षाबलों की कारवाई में जैश का एक आतंकी ढेर, एक आतंकी गिरफ्त में

नई दिल्ली। जम्मू और कश्मीर में इन दिनों आतंकी गतिविधी बढ़ गयी है। पिछले चार दिनों में करीब 4 से 5 मुठभेर की कारवाई हो चुकी है। ताजा मामला है जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले का जहां आतंकवादियों को घेरने को लेकर सुरक्षाबलों का दो जगहों पर सर्च ऑपरेशन जारी है। रमजान के शुरू होने के बाद से ही इस तरह की आतंकी घटनाओं में बढ़ोत्तरी देखी जाती है।

पुलवामा के अवंतीपोरा में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ चल रही है। इस बीच अवंतीपोरा के शरशाली इलाके में सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को ढेर कर दिया है, जबकि आगे की ख़बर मिलने तक एनकाउंटर  जारी है। दोनों ओर से रुक-रुक कर फायरिंग हो रही है। इसके अलावा, पंपोर के शार इलाके में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को घेर लिया है। हालांकि, अब तक आतंकी की पुख्ता संख्या के बारे में जानकारी नहीं मिल पायी है।

सेना से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि साउथ कश्मीर के पुलवामा जिले में हिजबुल मुजाहिद्दिन के कमांडर रियाज नाइकू को पकड़ने के लिए सुरक्षाबलों की ओर से दो ऑपरेशन चलाए जा रहे हैं। हिजबुल के ऑपरेशनल चीफ रियाज नाइकू, जो घाटी का सबसे सक्रिय कमांडर है, के पैतृक गांव बेइगपोरा गुलज़ापोरा में इस समय तलाशी अभियान जारी है।

सूत्रों के मुताबिक जैश के इसी खुंखार आतंकी को पकड़ने के लिए ऑपरेशन चलाया गया है और सेना ने इलाके को पूरी तरह से सील कर ऑपरेशन को तेज कर दिया है। अधिकारी ने कहा कि हालांकि, यह स्पष्ट नहीं है कि नाइकू हमारी गिरफ्त में फंसा है या नहीं। एक अन्य अधिकारी ने कहा कि पुलवामा में कई ऑपरेशन चल रहे हैं। फिलहाल, सुरक्षाबल घर-घर की तलाशी ले रहे हैं।

 

बता दें कि बीते दिनों जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में दो आतंकियों को मार गिराया गया। मगर इस मुठभेड़ में सेना के एक कर्नल और मेजर समेत 5 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए।

वहीं, हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत में सेना में एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि, हंदवाड़ा में दूसरी बार सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ का होना वो भी उसी घर के पास जहाँ रविवार को सेना के पाँच जवान शहीद हो गए थे बताता है कि पाकिस्तान कश्मीर में फिर से आतंकवाद की पुरानी पटकथा को दोहराने की कोशिश कर रहा है।

दूसरी ओर हिन्दुस्तान टाईम्स की ही एक एक ख़बर के अनुसार पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद जम्मू-कश्मीर में 11 मई को कई आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की योजना बना रहा है। इसको लेकर सुरक्षाबलों को अलर्ट जारी किया गया है। एक अधिकारी ने शनिवार को कहा, ‘जानकारी है कि ये आत्मघाती हमले हो सकते हैं और जम्मू-कश्मीर में सेना और अर्धसैनिक बलों के ठिकानों को निशाना बना सकते हैं।’ कहा जा रहा है कि इस आतंकी हमले की वजह भारतीय सेना द्वारा अप्रैल महीने में 28 आतंकवादियों को मौत के घाट उतार देना है।

कश्मीर के एक वरिष्ठ सुरक्षा अधिकारी ने कहा कि हमलों के लिए 11 मई का विकल्प रमजान के 17 वें दिन के साथ मेल खाने के लिए चुना गया है। इस दिन सऊदी अरब में बद्र की लड़ाई कुछ सौ सैनिकों द्वारा लड़ी गई और जीती गई थी। इतिहास में इसे इस्लाम के शुरुआती दिनों में बड़ी जीत और एक महत्वपूर्ण मोड़ के रूप में देखा जाता है। खुफिया अधिकारियों ने कहा कि पिछले एक महीने के दौरान पाकिस्तान की सेना द्वारा समर्थित घुसपैठ की कोशिशें की गईं, जिसके बाद माना जा रहा था कि जैश ऐसी कोई योजना बना सकता है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s