कोरोना महामारी से निपटने में ग्लोबल लीडर बनकर उभरा भारत- चार्ल्स मिशेल

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत दुनिया में एक लीडर बनकर उभरा है। ना सिर्फ भारत में बल्कि दुनिया भर में प्रधानमंत्री मोदी की लोकप्रियता आसमान छू रही है। प्रधानमंत्री ना सिर्फ पड़ोसियों को पैसे, दवा और तकनीकी सलाह के जरिए मदद कर रहे हैं बल्कि अमेरिका, ब्रिटेन, और यूरोपियन यूनियन सहित समृद्ध पश्चिमी देशों को भी मदद कर रहे हैं। प्रधानमंत्री स्वयं दुनियाभर के राष्ट्राध्यक्षों, नेताओं से ना सिर्फ संपर्क में है बल्कि विदेश मंत्री डॉ जयशंकर के नेतृत्व में विदेश मंत्रालय के पूरे अमले को इसी काम में लगा रखा है।

इसी क्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल के साथ टेलीफोनिक वार्ता हुई है।

पीएम मोदी और ईयू कॉउन्सिल के अध्यक्ष के बीच टेलीफोनिक वार्ता पर विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान

दोनों नेताओं ने कोविड-19 के आर्थिक एवं स्वास्थ्य संबंधी प्रभावों से मुकाबला के लिये क्षेत्रीय एवं वैश्विक सहयोग एवं समन्वय बढ़ाने की जरूरत पर जोर दिया है। विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी ने 07 मई को यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल के साथ टेलीफोनिक बातचीत की और कोविड-19 महामारी से निपटने में भारत और यूरोपीय संघ की प्रतिक्रिया और वर्तमान स्थिति पर चर्चा की।

प्रधानमंत्री ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘भारत-ईयू साझेदारी के तहत वैज्ञानिक अनुसंधान और नवोन्मेष समेत कई क्षेत्रों में कार्य करने की अपार क्षमता है।’’ आधिकारिक बयान के अनुसार, दोनों नेताओं ने महामारी के मद्देनजर आवश्यक दवाओं एवं औषधीय उत्पादों की आपूर्ति सुनिश्चित करने सहित महामारी से निपटने में आपसी सहयोग की सराहना की और इस संकट के कारण उभरती स्थिति में एक दूसरे के सम्पर्क में रहने पर सहमति व्यक्त की। बयान के अनुसार, मोदी और चार्ल्स ने कोविड-19 के आर्थिक एवं स्वास्थ्य संबंधी प्रभावों से मुकाबला के लिये क्षेत्रीय एवं वैश्विक सहयोग एवं समन्वय बढ़ाने की जरूरत बतायी। दोनों नेताओं ने भारत-यूरोपीय संघ सामरिक साझेदारी को और मजबूत बनाने की प्रतिबद्धता की पुन: पुष्टि की।

दोनों नेताओं ने इस बात पर सहमति व्यक्त की कि उनके अधिकारी अगले भारत-यूरोपीय संघ शिखर बैठक के लिये विस्तृत एजेंडा तैयार करेंगे। भारत और ईयू का 15वां वार्षिक शिखर सम्मेलन मार्च में ब्रसेल्स में होने वाला था लेकिन वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण यह स्थगित हो गया। मोदी ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘ईयू के अध्यक्ष एच. ई. चार्ल्स मिशेल के साथ इस बारे में बहुत अच्छी चर्चा हुई कि भारत और यूरोप कोविड-19 के संकट के दौरान वैश्विक स्तर पर स्वास्थ्य सुरक्षा एवं वैश्विक अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने में योगदान के लिए किस प्रकार सहयोग कर सकते हैं।

वहीं यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री मोदी के साथ हुई बातचीत की जानकारी दी। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात हुई कि कैसे ईयू और भारत साथ मिलकर कोरोना महामारी से लड़ने में वैश्विक साझेदारी स्थापित बकर सकते हैं।” “भारत के कोरोना महामारी से मुकाबला करने के माले में वैश्विक स्तर पर लीडर बनकर उभरा है और मैं इसका स्वागत करता हूँ। हमने आर्थिक चुनौतियों से निपटने को लेकर अपनी रणनीतिक साझेदारी पर भी बातचीत की।”

जानकारी के लिए बता दें, भारत ने ही सबसे पहले कोरोना महामारी से लड़ने को लेकर क्षेत्रीय स्तर पर, वैश्विक स्तर पर सामूहिक प्रयासों और तरीकों पर बल दिया और वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सार्क देशों के राष्ट्राध्यक्षों के साथ बैठक की। इस पहल से सबक लेते हुए ‘जी 20’, ‘जी 7’ और ‘नैम’ समूहों की बैठक भी इसी तरह से हो चुकी है। भारत ने दुनिया के हर जरूरत देश को कोरोना महामारी के समय दवाओं सहित हर जरूरी सामान मुहैया कराया है। भारत कोरोना महामारी के समय एक विश्व गुरु बनकर उभरा है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: