NSA अजीत डोभाल का एक और सीक्रेट मिशन कामयाब

नई दिल्ली। कोरोना से जंग के बीच भारत को पूर्वोत्तर में उग्रवाद के खिलाफ बड़ी जीत मिली है। समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक, म्यांमार सरकार  ने 22 उग्रवादियों को भारत सरकार को सौंपा है। इन उग्रवादियों को मणिपुर पुलिस और असम पुलिस के हवाले किया गया है  इस पूरी कार्रवाई में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की अहम भूमिका रही। इन उग्रवादियों में सबसे बड़ा नाम राजन डिमरी का है।  इस मिशन की कामयाबी को भारत के लिए एक बड़ी कूटनीतिक जीत की तरह देखा जा रहा है। इन उग्रवादियों को भारत को सौंपने से पूर्वोत्तर राज्यों में उग्रवादी गतिविधियों पर रोक लगाने में मदद मिलेगी।

पकड़े गए आंतकवादियों का संबंध  एनडीएफबी NDFB (S), यूएनएएलएफ (UNLF), पीआरईपीएके PREPAK (Pro), केवाईकेएल (KYKL), पीएलए (PLA) और केएलओ (KLO) से है।
म्यांमार सरकार ने शुक्रवार दोपहर को कुल 22 पूर्वोत्तर उग्रवादियों अभियुक्तों के एक समूह को भारत सरकार को सौंपा है। इन उग्रवादियों को मणिपुर और असम को सौंपा गया, जिन्हें एक विशेष विमान से असम से वापस लाया जा रहा है। इससे पहले भी 2018 में भारतीय सेना म्यांमार सेना की सहयोग से पूर्वोत्तर में एक सर्जिकल स्ट्राइक को भी अंजाम दे चुकी है। जिसमें बड़ी संख्या में उग्रवादी मारे गए थे।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s