कश्मीर के अनंतनाग में कश्मीरी पंडित की हत्या, क्या 1990 जैसी दहशत रचने की हो रही है साजिश ?

नई दिल्ली। पिछले कुछ दिनों में भारतीय सैनिकों ने एक के बाद एक कई आतंकवादियों को मौत के घाट उतारा है। लगातार हो रहे ऑपरेशन्स और आतंकियों के मारे जाने से बौखलाए आतंकियों के निशाने पर फिर से कश्मीरी पंडित आ गए हैं। दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों ने सोमवार को एक कश्मीरी पंडित सरपंच की गोली मारकर हत्या कर दी।

WhatsApp Image 2020-06-09 at 18.06.23

इस वारदात को कश्मीर में आतंक का नया पर्याय बने जिहादी संगठन द रजिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) ने अंजाम दिया है। बीते वर्षों में किसी कश्मीरी पंडित की आतंकियों द्वारा हत्या की यह पहली वारदात है। सरपंच अजय पंडिता कांग्रेस के नेता थे, उनकी हत्या के बाद सियासी गलियारे में हड़कंप है। अनंतनाग के लोकबवन पंचायत  में मातम पसरा है। पुलिस ने आतंकियों को पकड़ने के लिए पूरे इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चला रखा है।

इस घटना के बाद से एक बार फिर कश्मीरी पंडित के ऊपर जुल्मों सितम की यादों को ताजा कर दिया है। वो दर्द और बर्बरता, कश्मीरी पंडितों को आज भी कचोटती रहती है। अजय पंडिता की हत्या ने एक बार फिर पुराने घावों को कुरेद दिया है। साथ ही एक बार फिर से बहुत सारे सवालों को खड़ा कर दिया है।

अभी कुछ समय पहले ही सरकार ने कश्मीर से धारा 370 को हटा कर कश्मीर में एक नए युग के शुरुआत करने की कोशिश की है। लेकिन इस घटना के जरिए लगता है एक बार फिर कश्मीरी पंडितों के बीच दहशत का माहौल पैदा करने की कोशिश हो रही है। इस हत्या से एक बार फिर सवाल उठने लगा है क्या कुछ लोग 1990 जैसी दहशत रचे जाने की साजिश कर रहे हैं?

 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

Blog at WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: